Categories
RELIGIOUS

why do we wear white clothes in funeral?

आमतौर पर लोग जिसे शैतान या भूत कहते हैं,वह जीवन का नकारात्मक रूप है।जिसे हम परमात्मा कहते हैं,वह जीवन का सकारात्मक रूप है।ऋषियों का कहना है कि हमारे कपड़े,बिस्तर या चादर भी अच्छी और बुरी ऊर्जा को आकर्षित करते हैं।

अगर कपड़े रखने और पहनने का तरीका गलत हो तो निश्चित ही जीवन में नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ता है।हम आपको बताते हैं कि कपड़ों से जुड़ी कौन सी गलती जीवन में नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ा देती है।

  • कपड़े रखने का गलत तरीका:(why do we wear black and white to funerals)

हमें बचपन से ही अपने कपड़ों को ठीक रखने की सलाह दी जाती है।हमें अपने कपड़े, चादरें इस्तेमाल के बाद अच्छी तरह मोड़कर रखनी चाहिए।

why is wearing white at a funeral bad

अगर सुबह उठकर अपना बिस्तर नहीं बनाया जाए तो वहां नकारात्मक ऊर्जाएं रह जाती हैं और जब हम दोबारा बिस्तर पर जाते हैं तो इसका बुरा असर जीवन पर पड़ता है। 

कोई भी बेतरतीब और अव्यवस्थित वस्तु नकारात्मक रूप की ऊर्जा को आकर्षित करती है।हमारी आंखें केवल सफेद रोशनी के प्रकीर्णन के रूप में रूप को देखती हैं? लाल वस्तु लाल नहीं दिखाई देती क्योंकि उसका रंग लाल होता है। 

यह सफेद रोशनी में मौजूद सभी रंगों को बरकरार रखता है और केवल लाल रंग देता है।दूसरे शब्दों में, जो वस्तु रंग को वापस फेंकती है,वह उसका रंग बन जाता है।

यानी हमारी समझ बिल्कुल गलत है।यह कुछ और नहीं बल्कि लाल है।एक चीज सफेद है क्योंकि यह अपने मूल रंग को छोड़कर सब कुछ वापस कर देती है।

जब आप किसी ऐसी जगह जा रहे हों जहां चीजों पर आपका नियंत्रण न हो तो हमेशा सफेद कपड़े पहनने की सलाह दी जाती है।वास्तव में आप नहीं जानते कि आपके आसपास क्या हो रहा है। 

आप लोगों के मन में छिपे विचारों और भावनाओं को नहीं जान सकते।सफेद रंग आपको एक तरह की सुरक्षा देता है।बाकी सब कुछ वापस फेंक दिया जाता है।काला सब कुछ अवशोषित कर लेता है। 

why do you wear white at a funeral

आप किसी ऐसी जगह पर हैं जहां हर कोई घुलना-मिलना चाहता है तो आपको काले रंग के कपड़े पहनने चाहिए। सद्गुरु कहते हैं कि लगभग 25 प्रतिशत लोग मानसिक संघर्ष से ग्रस्त हैं क्योंकि वे लंबे समय तक काले कपड़े पहनते हैं जबकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। 

यदि आप किसी के शोक में जाते हैं या आपके आस-पास किसी की मृत्यु हो जाती है तो काले कपड़े कभी न पहनें।ऐसे में सफेद ही पहनें,क्योंकि आप कभी भी इस तरह की एनर्जी को एब्जॉर्ब नहीं करना चाहेंगे।काले रंग के कपड़े कभी न पहनें जहां आप ध्यान आकर्षित नहीं करना चाहते।

  • मृतकों के कपड़े:(can we wear white to a funeral)

इंसान के पहने हुए कपड़ों के कुछ हिस्से रह जाते हैं।यह इस संस्कृति का हिस्सा है कि जब कोई व्यक्ति मरता है तो उसके शरीर के संपर्क में आने वाले कपड़े जल जाते हैं।

इसकी देखरेख कभी नहीं की जाती है।यदि कोई वस्त्र बहुत कम पहना गया हो तो वह केवल रक्त सम्बन्धियों को ही दिया जाता है।उन कपड़ों को भी मौत की पहली बरसी तक नहीं पहना जाता।

why do you not wear white to a funeral

ऐसे कपड़ों के संपर्क में आने से हमारी कुछ ऊर्जा उनमें बंध जाती है। तब आपको कुछ अजीबोगरीब घटनाएं अनुभव होने लगेंगी।कोई भी चीज जो आपके शरीर के संपर्क में आती है,आप पर कुछ निशान होंगे।

भारत में लोग अपने शरीर में आने वाले कपड़ों को लेकर काफी सावधान रहते हैं।अक्सर काला जादू करने वाले इसका गलत इस्तेमाल करते हैं। 

ऋषियों का कहना है कि हमें मृत लोगों की संगति नहीं करनी चाहिए।जब मनुष्य अपने शरीर,मन,बुद्धि और आत्मा के सामान्य ज्ञान को छोड़ देता है,तो उसके साथ आपका संबंध समाप्त हो जाता है।फिर वह व्यक्ति कितना भी प्रिय या निकट क्यों न हो।

Read More :https://parthghelani.in/why-is-the-dead-body-not-kept-alone-in-the-house-after-death/

Follow me for regular updates:

Facebook : facebook.com/parthj ghelani ,
Instagram : instagram.com/parthjghelani