Know,a unique love story that ends with a phone call and years of searching!

0
45

नेहा रोज की तरह किचन की सफाई में लगी हुई थी।ग्यारह बजे उन्हें जिम जाना था।उनके पति निखिल भी अभी-अभी ऑफिस के लिए निकले थे।वह रोज का खाना सुबह ही बना लेती थी। 

जिम से आने के बाद उन्हें बहुत भूख लगी थी और खाना बनाने के लिए उनके पास पर्याप्त ऊर्जा नहीं थी।शादी और सुहागरात के लिए उसने बड़े जोश और उत्साह से जो कपड़े खरीदे थे, वे सब अब उसे कस कर फिट हो रहे थे। 

खुद को पहले की तरह फिट बनाने का फैसला किया।जिम के अपनी सोसाइटी में होने के कारण निखिल को भी कोई आपत्ति नहीं थी।वह बड़ा जिद्दी आदमी था। 

जिम ज्वाइन करने से पहले उन्होंने नेहा से कहा था कि वह लेडीज टाइमिंग में ही जिम जाएं,घर से ही सलवार सूट पहनें और जिम जाने के बाद वहीं कपड़े पहनें।

unique love story

नेहा को उनके इन रूढ़िवादी विचारों से काफी चिढ़ होती थी।हाउसकीपिंग के शौक को आगे बढ़ाने के लिए उसने अपनी अच्छी नौकरी छोड़ दी।पैसे की कोई कमी नहीं थी।

कुछ समय के लिए अपने वैवाहिक जीवन का भरपूर आनंद लेना चाहती थी।नेहा ने एमबीए किया है।जान पहचान बढ़ी और दोनों ने शादी कर ली।

उसने उठने के लिए रोटी को गैस पर रखा ही था कि फोन बजने लगा। गैस धीमी करके और हाथ धोकर वह फोन की तरफ दौड़ी।फोन उसके ससुर का था।’हेलो पापा, प्रणाम’ उसने मीठी आवाज में कहा।

ससुर ने नेहा से कुछ नोट करने को कहा तो वह भाग कर अंदर के कमरे में पेन और पेपर लेने चली गई।फांसी लगाने के बाद उसका दिमाग ग्यारह साल पीछे चला गया।

जिस व्यक्ति का नाम कागज पर लिखा था,वह एक बड़ी कंपनी का सीईओ था,जो उसके पति निखिल को उस कंपनी में नौकरी दिलाने में मदद कर सकता था।वो नाम था नेहा की दस साल की तलाश। 

कितनी मिन्नतें मांगी उसने,कितनी मिन्नतें तकदीर से की बस इसी एक नाम और एक पते को पाने के लिए,पर कुछ न हो सका।यह नाम कितनी आसानी से आज उसके सामने कागज पर उसके नंबर से लिखा हुआ नजर आता है,जब वह उसे भूलने लगी थी और अपनी नई जिंदगी में लीन थी।

नेहा चौदह साल की थी जब उसने पहली बार उसका नाम सुना।वह उसके साथ ट्यूशन जाता था और नेहा को कब उससे प्यार हो गया पता ही नहीं चला।

कानों में दिल की धड़कन सुनाई दे रही थी।गला सूख जाता है।कई बार चुपके से उसे देखा।कान,बस उसकी आवाज सुनकर खुश हो गए।जब भी वह उसे देखकर मुस्कुराता था,तो वह इस तरह सिहर जाती थी जैसे वह उसे जानती भी नहीं है! 

unique love story novels

सांसों के उतार-चढ़ाव पर वह केवल उसी का नाम पुकारने लगी।गौतम गौतम! और आज उसके सामने रखे कागज पर वही नंबर ‘गौतम अवस्थी’ लिखा हुआ था।गौतम पढ़ाई में बहुत होशियार था, उसके और नेहा के बीच अधिक अंक लाने की होड़ सी लगी रहती थी। 

नेहा शाम को ट्यूशन जाने को बेताब थी।बाद में गौतम ने ट्यूशन बैच का समय बदल दिया।अब नेहा और वो बहुत कम मिलते हैं।नेहा रास्ते भर दुआ कर रही थी कि वो आज हाजिर हो जाए। दो साल हो गए हैं।

बारहवीं का रिजल्ट आ गया।नेहा ने अपने जिले से किया है।गौतम तीसरे स्थान पर रहे।नेहा ने फैसला किया कि आज वह गौतम को उसके घर बधाई देगी और उससे दोस्ती करने की पहल करेगी।

 अब तक उनके बीच ट्यूशन में एक-दो बार कॉपियों के आदान-प्रदान के अलावा कभी कोई बात नहीं होती थी। वह गौतम के घर पहुंचने की हिम्मत करती है और जानती है कि उसके पिता का ट्रांसफर मेरठ हो गया है और वह एक महीने पहले यहां से जा रहा है। 

वह सुन्न हो गई,उसके पास कहने के लिए कुछ नहीं था। वह उस दिन और बाद में भी बहुत, बहुत प्यासी थी। धीरे-धीरे समय बीतता गया लेकिन गौतम के लिए उनके मन में जो प्यार था वह बरकरार रहा। 

वह गौतम के घर पहुंचने की हिम्मत करती है और जानती है कि उसके पिता का ट्रांसफर मेरठ हो गया है और वह एक महीने पहले यहां से जा रहा है। वह सुन्न हो गई,उसके पास कहने के लिए कुछ नहीं था। 

वह उस दिन और बाद में भी बहुत, बहुत प्यासी थी।धीरे-धीरे समय बीतता गया लेकिन गौतम के लिए उनके मन में जो प्यार था वह बरकरार रहा। 

one true loves summary

वह गौतम के घर पहुंचने की हिम्मत करती है और जानती है कि उसके पिता का ट्रांसफर मेरठ हो गया है और वह एक महीने पहले यहां से जा रहा है। 

वह सुन्न हो गई,उसके पास कहने के लिए कुछ नहीं था।वह उस दिन और बाद में भी बहुत, बहुत प्यासी थी।धीरे-धीरे समय बीतता गया लेकिन गौतम के लिए उनके मन में जो प्यार था वह बरकरार रहा।

नौ साल तक उनके दिल को कोई और छू नहीं सका।वह सोशल साइट्स पर गौतम अवस्थी का नाम लेकर ट्रोल हो रही थीं।सर्च रिजल्ट्स में कुछ नाम तो आते,उसे सभी नाम अपरिचित लगते थे।वह अक्सर सोचती थी,वह क्या कर रहा होगा? 

बायो लिया था उसने, बन जाता शायद डॉक्टर!तब डॉ.गौतम ने अवस्थी के नाम से खोजा,उसका कोई भी नाम उसके गौतम का नहीं था।तभी उसकी मुलाकात निखिल से हुई,जो उसके ही शहर का रहने वाला था।निखिल उसे बहुत पसंद करता था। 

दोनों दोस्त बन गए।एक दिन निखिल ने उसे शादी के लिए प्रपोज कर दिया।अंत में नेहा के पास उसे ना कहने का कोई कारण नहीं था।दोनों ने धूमधाम से शादी की।गौतम एक भूली-बिसरी याद बनकर अपने दिमाग के एक कोने में खो गए।

सब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन आज अचानक उनके सामने यह नंबर आया,जिसकी तलाश में उन्होंने कई गलत नंबर डायल किए थे।

काफी सोचने के बाद नेहा ने उस नंबर को डायल किया ‘हैलो ‘दूसरी बार।नेहा की ओर से एक आवाज आई। इस आवाज को अच्छी तरह से जानती थी।

‘हैलो’ सामने से दूसरी आवाज आई ‘गौतम’ घबराई हुई आवाज नेहा ने कहा ‘जी,कौन हैं आप?”नेहा,नेहा ठाकर! पिली भींट,केमिस्ट्री बैच,माथुर सर,’नेहा ने एक सांस में कहा।मैं कुछ मिनटों में कॉल करने के लिए स्वतंत्र हूं।

romantic love story ideas

पहली बार अपना नाम सुनते ही नेहा एक अलग ही दुनिया में चली गईं।हैलो,नेहा,यह आपका नंबर है ना?क्या मैं वापस बुला लूं?’ उसने पूछा,’हां’ फोन कट गया।

वह थकी हुई थी,वह अब नाश्ता भी नहीं करना चाहती थी।वह अक्सर फोन की स्क्रीन देखती रहती थी।एक घंटा बीत गया,गौतम ने फोन नहीं किया.. मैंने फोन क्यों किया?पता नहीं अब उसकी याद आती है या नहीं?पता नहीं तुम मेरे बारे में क्या सोच रहे हो?उसे अपने पर शर्मिंदगी महसूस हुई।

नंबर सेव नहीं था इसलिए मैंने कन्फर्म करने के लिए कॉल किया। अगर निखिल को पता चला तो? फिर भी बड़ा शक्की है,बचपन के दोस्तों से बात भी नहीं करने देता,उसका दिमाग फटा जा रहा था।अनिच्छा से,वह जिम के लिए तैयार हो गई।

ट्रेडमिल पर दौड़ते हुए, वह गौतम के विचारों को अपने दिमाग से निकालने की कोशिश कर रही थी, तभी उसका फोन बज उठा।वह धीमा हो गया और घबराते हुए मेरे पास से कॉल रिसीव किया।’आई एम सॉरी? 

बैठक काफी देर तक खिंचती चली गई और फिर एक-एक कर लोग केबिन में आते गए। अब मैं आराम से बात कर सकता हूं।”क्या तुम मुझे याद करते हो?” मैं कैसे भूल सकता हूँ?कहाँ से बोल रहे हो “मुंबई” इतना हांफ क्यों रहे हो? फिर हर कोई फिट है।’वह हंस पड़ी।

‘नेहा! तुम्हें मेरा नंबर कैसे मिला?’नेहा ट्रेडमिल से उतरी और एक साइड स्टूल पर बैठ गई। उसने तौलिये से अपना चेहरा पोंछा और कहा, ‘गौतम पहले तुम वादा करो, तुम इसे किसी के साथ साझा नहीं करोगे।”बिल्कुल … वादा” मेरे ससुर ने मुझे यह नंबर दिया था। वह निखिल के लिए कहीं से लाया है।

निखिल मेरे पति हैं।जिसने अभी आपकी कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद के लिए इंटरव्यू दिया है।मैं पिछले दस वर्षों से आपको ढूंढ रहा था गौतम! और जब हम आज मिले,तब तक बहुत देर हो चुकी थी।’दोनों तरफ से भारी सांस लेने की आवाजें आ रही थीं।

world famous love story

“स्वास्थ्य के प्रति जागरूक,आप बहुत फिट हैं।”आप ग्यारह साल की बात कर रहे हैं,जब मैं पंद्रह या सोलह साल का था। फिर हर कोई फिट है।’ वह हंस पड़ी।’नेहा! तुम्हें मेरा नंबर कैसे मिला?’नेहा ट्रेडमिल से उतरी और एक साइड स्टूल पर बैठ गई।

तौलिये से अपना चेहरा पोंछा और कहा,’गौतम पहले तुम वादा करो, तुम इसे किसी के साथ साझा नहीं करोगे।”बिल्कुल,वादा” मेरे ससुर ने मुझे यह नंबर दिया था। वह निखिल के लिए कहीं से लाया है। 

जिसने अभी आपकी कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद के लिए इंटरव्यू दिया है। मैं पिछले दस वर्षों से आपको ढूंढ रहा था गौतम! और जब हम आज मिले,तब तक बहुत देर हो चुकी थी।’ दोनों तरफ से भारी सांस लेने की आवाजें आ रही थीं।

“स्वास्थ्य के प्रति जागरूक, आप बहुत फिट हैं।” आप ग्यारह साल की बात कर रहे हैं, जब मैं पंद्रह या सोलह साल का था। फिर हर कोई फिट है।’वह हंस पड़ी।’नेहा! तुम्हें मेरा नंबर कैसे मिला?’नेहा ट्रेडमिल से उतरी और एक साइड स्टूल पर बैठ गई।

तौलिये से अपना चेहरा पोंछा और कहा,’गौतम पहले तुम वादा करो,तुम इसे किसी के साथ साझा नहीं करोगे।”बिल्कुल,वादा” मेरे ससुर ने मुझे यह नंबर दिया था।वह निखिल के लिए कहीं से लाया है। निखिल मेरे पति हैं। 

जिसने अभी आपकी कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद के लिए इंटरव्यू दिया है।पिछले दस वर्षों से आपको ढूंढ रहा था गौतम! और जब हम आज मिले,तब तक बहुत देर हो चुकी थी।’ 

दोनों तरफ से भारी सांस लेने की आवाजें आ रही थीं।तुम्हें मेरा नंबर कैसे मिला?’नेहा ट्रेडमिल से उतरी और एक साइड स्टूल पर बैठ गई।

तौलिये से अपना चेहरा पोंछा और कहा, ‘गौतम पहले तुम वादा करो, तुम इसे किसी के साथ साझा नहीं करोगे।”बिल्कुल, वादा” मेरे ससुर ने मुझे यह नंबर दिया था। वह निखिल के लिए कहीं से लाया है। निखिल मेरे पति हैं। 

जिसने अभी आपकी कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद के लिए इंटरव्यू दिया है।पिछले दस वर्षों से आपको ढूंढ रहा था गौतम! और जब हम आज मिले,तब तक बहुत देर हो चुकी थी।’दोनों तरफ से भारी सांस लेने की आवाजें आ रही थीं।तुम्हें मेरा नंबर कैसे मिला?’

नेहा ट्रेडमिल से उतरी और एक साइड स्टूल पर बैठ गई।तौलिये से अपना चेहरा पोंछा और कहा,’गौतम पहले तुम वादा करो,तुम इसे किसी के साथ साझा नहीं करोगे।”बिल्कुल,वादा” मेरे ससुर ने मुझे यह नंबर दिया था।वह निखिल के लिए कहीं से लाया है। 

world most famous love story

जिसने अभी आपकी कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद के लिए इंटरव्यू दिया है। मैं पिछले दस वर्षों से आपको ढूंढ रहा था गौतम! और जब हम आज मिले,तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

‘दोनों तरफ से भारी सांस लेने की आवाजें आ रही थीं।जिसने अभी आपकी कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद के लिए इंटरव्यू दिया है। 

आपको ढूंढ रहा था गौतम!और जब हम आज मिले, तब तक बहुत देर हो चुकी थी।’दोनों तरफ से भारी सांस लेने की आवाजें आ रही थीं।

जिसने अभी आपकी कंपनी में सीनियर मैनेजर के पद के लिए इंटरव्यू दिया है।दस वर्षों से आपको ढूंढ रहा था गौतम! और जब हम आज मिले, तब तक बहुत देर हो चुकी थी।’दोनों तरफ से भारी सांस लेने की आवाजें आ रही थीं।

“तुम्हें पता है, गौतम, मैंने अपने जीवन में कभी भी किसी चीज की इतनी इच्छा नहीं की जितनी कि एक बार तुमसे मिल लूं।

“नेहा,मैं तुमसे बहुत प्यार करता था लेकिन तुम इतने शांत थे,मेरी कभी तुमसे बात करने की हिम्मत नहीं हुई और वह शहर था छोटा भी वही था, गलती से भी नाम ले लो तो बात शुरू हो जाती थी। 

नेहा की आवाज़ में नाराज़गी थी।’नेहा डर रही थी,विशाल ने उसे सड़क पर कितना कुछ कह दिया था, क्योंकि उसने तुम्हें और तुम्हारे भाई निशांत को प्रेम-पत्र दिया था, तुम्हारा नाम लेने से ही उसने राहुल और अनिल को धो डाला था।

”हाहाहा,मुझे किसी को बताना नहीं है जो मुझे पसंद नहीं करता है, शहर के आधे लड़के मेरा पीछा कर रहे थे,अगर मैंने दे दिया तो शायद,”उसने बात करना बंद कर दिया। जिम ट्रेनर ने उसे बात न करने की हिदायत दी जिम में फ़ोन पर।

‘हैलो,शायद क्या?’अब कहते हैं,”मैंने तुमसे कहा था,तुम वहाँ थे,अगर मैंने तुम्हें एक प्रेम पत्र दिया होता, तो शायद,”तब शायद हम आज साथ होते। मैंने तुम्हें कहीं नहीं खोजा?’ फेसबुक,ऑर्कुट,सब कुछ फेंक दिया गया।

‘नेहा, मुझे लगा कि तुम मुझे पसंद नहीं करती हो।आपकी एक झलक पाने के लिए तीन किलोमीटर साइकिल चलाता था।आपके घर के बगल में ही साहब के साथ अंग्रेजी की ट्यूशन की भी व्यवस्था की गई थी ताकि मैं आपको देख सकूँ। 

‘यार, तुम तो लड़के थे, एक बार हिम्मत करनी थी तो ज्यादा से ज्यादा मैं ‘नहीं’ कह देता।’नेहा ने घर का दरवाजा खोलकर कहा,’मैं सीधा लड़का था।तुम्हें क्या परेशान कर रहा है, तुमने मेरी ओर देखा भी नहीं और प्यार का भ्रम ‘नहीं’ सुनने से बेहतर है।

दस साल तक तुम्हारा इंतजार किया,एक भी अफेयर नहीं किया।बीएससी,एमबीए किया। आखिरकार अपना अकेलापन दूर करने के लिए पिछले साल शादी कर ली।निखिल मुझे बहुत प्यार करता था। मैंने शादी की ताकि उसका दिल न टूटे।”

“मैंने भी पिछले साल शादी की थी।””अच्छा,किस तारीख को?””सत्रह नवंबर।”मैं अठारह नवंबर,तुम्हारी शादी के एक दिन बाद।”नेहा ने एक ठंडी साँस छोड़ी।

‘अगर हम एक साल पहले मिले होते,”कोशिश मत करो गौतम,नहीं तो हम आज साथ होते और भले ही तुम्हारी शादी के एक दिन बाद मेरी शादी हो जाती,क्या कोई ऐसे किसी का इंतज़ार करता है?’

unique short love story

इसी बीच निखिल का फोन आने लगा,’मैं थोड़ी देर बाद कॉल करूंगा।’कहकर नेहा फोन काट देती है और निखिल का नंबर डायल कर देती है।

‘मैं कब कॉल कर रहा हूँ? तुम्हारा फोन व्यस्त हो रहा था, तुम किससे बात कर रहे थे?’ निखिल ने गुस्से से भरे स्वर में कहा।”आज जिम गए थे?” माँ के साथ,तबीयत खराब होने के कारण वापस आ गए।”क्या हुआ?”फोन पर क्यों हो,यार,”हाँ, मैं जाऊँगा सोने के लिए।

“सुनो,मेरी पासबुक अलमारी में है,बस मुझे खाता संख्या बताओ।राहत की सांस ली और बिस्तर पर लेट गया।जैसे बैटरी खत्म हो रही थी,उसने फोन को चार्ज पर लगाया और गौमत को एक बार फिर बुलाया।

‘अब वो वक्त वापस नहीं आएगा गौतम,हम दोनों ने शादी कर ली,हमारी जिंदगी में सब ठीक चल रहा है,अब मिले तो सब बिखर जाएगा!

”हां,शायद तुम ठीक कह रहे हो,क्या बात है निखिल और राम?”गौतम हम अब कभी बात नहीं करेंगे।नहीं तो मेरे लिए निखिल के साथ रहना मुश्किल हो जाएगा।”

नेहा हमेशा से आपको बताना चाहती थी कि आप ब्यूटी विद ब्रेन का एक दुर्लभ कॉम्बिनेशन हैं।आज तो लगता है भाई के हाथ से मार भी लेते तो कोई हर्ज नहीं होता।

”कायर को हमेशा चोट लगती है, खैर हमारा प्यार खत्म हो गया था, भले ही हम आज एक दूसरे को कह पाते।अब हमारी दुनिया और सड़क के बीच एक बड़ा फासला है। 

Read More :https://parthghelani.in/very-sad-heart-touching-facebook-chat-love-story/

Follow me for regular updates:

Facebook : facebook.com/parthj ghelani ,
Instagram : instagram.com/parthjghelani

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here