Categories
romantic love stories

2 Sweet How We Met Stories From Real Couples!

  • * 59 साल के स्वेतलाना और लेव:(romantic how we met stories)

स्वेतलाना और लेव के पास 1961 में उनकी शादी की कोई तस्वीर नहीं है।जॉर्जिया देश में एक अजनबी के साथ अपने गवाह के रूप में शादी की।युद्ध के दोनों बच्चे जो शिशुओं के रूप में प्रलय से बच गए,स्वेतलाना और लेव यूक्रेन में 14 वर्षीय स्कूली बच्चों के रूप में मिले। 

एक धनी परिवार का लोकप्रिय लड़का था,और वह प्यारी,अध्ययनशील लड़की थी जो शून्य से आई थी।लेव ने स्वेतलाना की चोटी खींचकर और उससे अपना होमवर्क करवाकर धमकाया।स्वेतलाना को कम ही पता था,लेव का उस पर अपना क्रश व्यक्त करने का तरीका था।

स्वेतलाना इतनी गरीबी में रहती थी कि लेव ने अपने स्कूल के माध्यम से उसे एक गर्म सर्दियों का कोट दिलाने के लिए अभियान चलाया।प्यार उनकी किशोरावस्था में विकसित हुआ,ड्राफ्ट ने 18 साल की उम्र में लेव को तीन साल के लिए सेना में बुला लिया।जॉर्जिया में ड्राफ्ट किया गया था, जहाँ उनकी प्रेम कहानी पूरी हुई।

how couples met stories

उससे शादी करने की यात्रा की।सोवियत रूस में एक युवा लड़की के लिए खुद से यात्रा करना बहुत बहादुरी की बात थी।लेव को बेस से कुछ ही घंटों की दूरी पर अपनी दुल्हन को देखने की अनुमति दी गई थी।वह स्थानीय सिटी हॉल में गवाह के रूप में एक साथी सैनिक को साथ लाया।

यह अविश्वसनीय मेल तीन बेटियों के एक सुंदर परिवार में विकसित हुआ,और स्वेतलाना और लेव 1996 में एक यहूदी शरणार्थी कार्यक्रम के माध्यम से अमेरिका में आ गए।आज तक,अभी भी एक-दूसरे के लिए गाते हैं और एक-दूसरे को हंसाते हैं। 

  • * 13 महीने के एरिका और टी.के:(love stories how we met)

2006 में शुरू होती है जब मैं हावर्ड यूनिवर्सिटी में आने वाला फ्रेशमैन था।मेरी जुड़वाँ बहन और मुझे अपने आवास की व्यवस्था की पुष्टि करने की आवश्यकता थी और निवास जीवन के कार्यालय का दौरा किया,जहाँ मैंने पहली बार टीके को देखा था।टकटकी के अलावा मैंने जो पहली चीज देखी,वह थी उनके डिंपल।

हमारा घूरना ध्यान देने योग्य रहा होगा क्योंकि कमरे में व्यवस्थापक ने मुझसे कहा,”चिंता मत करो,वह मुसीबत के अलावा कुछ नहीं है।”मुलाक़ात के बाद, हम कैंपस के आसपास और छात्रावासों में एक-दूसरे से मिलते थे,मैंने निश्चित रूप से अपनी दूरी बनाए रखी। 

how i met my wife stories

दो साल बाद हमारी अगली मुलाक़ात हुई,और यह सुखद नहीं था।मेरी बहन और मैं दोनों आरए थे,जब टीके ने अपनी आईडी दिखाए बिना डॉर्म में प्रवेश करने का प्रयास किया तो वह एक डॉर्म के फ्रंट डेस्क पर काम कर रही थी।

मेरी बहन के पास यह नहीं था और एक बहस शुरू हो गई।किसी तरह उसी समय नीचे उतरा और अपनी बहन को बहस करते देख,टीके से भी बहस करने लगा।सामुदायिक निदेशक आए और तर्क को तोड़ दिया,वह आखिरी बार नहीं था जब मैं टीके को देखूंगा। 

अगले दिन मुझे सामुदायिक निदेशक से उनके कार्यालय में मिलने का संदेश मिला। हालांकि मुझे लगा कि यह घटना के बारे में एक दिन पहले से है, यह मेरे लिए बहुत दुख की बात थी जब मैं अंदर गया और टीके को वहां बैठे देखा। 

यह महसूस करते हुए कि यह एक प्रकार का फ्लेक्स था, मैंने सामुदायिक निदेशक को छोटी सी बात करने की इजाजत दी, जबकि टीके के साथ आँख से संपर्क नहीं किया।एक बार सामुदायिक निदेशक के समाप्त हो जाने के बाद, मैंने बस पूछा कि क्या यह सब था,टीके की दिशा में एक नज़र डाले बिना उठ गया,और चला गया।उससे आँख मिला कर उसे रत्ती भर भी संतुष्टि देने से इंकार कर दिया।

चार साल बीत गए।एक दिन फेसबुक पर मुझे टीके से एक “प्रहार” मिलता है।मैं यह कहते हुए जवाब देता हूं,मुझे लगता है कि तुमने मुझे गलती से पोक किया।हम एक दूसरे को पसंद नहीं करते,वह वापस जवाब देता है,नहीं, मैंने तुम्हें जान बूझकर पोक किया। मुझे ठीक-ठीक पता है कि तुम कौन हो और मैंने कभी नहीं कहा कि मैं तुम्हें पसंद नहीं करता।

romantic how we met stories

हमने लापरवाही से डेटिंग की और मुझे एहसास हुआ कि वह आधा बुरा नहीं था।वह वास्तव में एक तरह का मीठा था,तैनात होने से पहले प्रशिक्षण के लिए दूर जाने की योजना बना रहा था। 

स्थानांतरण की संभावना और लंबी दूरी के रिश्ते को बनाए रखने के कारण मुझे सेना में किसी के साथ डेटिंग करने में कोई दिलचस्पी नहीं थी।हमने चीजों को खत्म करने और दोस्त बने रहने का फैसला किया। 

TK हमेशा मेरी जाँच करता था और मुझे जहाँ भी पोस्ट किया जाता था,मुझे आमंत्रित करता था,मैंने कभी बाध्य नहीं किया।तैनाती से लौटने पर,उसने मुझे बताया कि वह गंभीरता से डेटिंग शुरू करना चाहता है।मैं प्रतीक्षा कर सकता हूँ।बस यह समय की बात है।

हम अपने अलग रास्ते चले गए। मैं एनवाईसी चला गया,उसका एक बच्चा था।वह हमेशा संपर्क में रहेंगे।2017 के पतझड़ में, उन्होंने फिर से हाथ बढ़ाया,और इस बार कुछ अलग लग रहा था।वह बहुत इरादतन था। 

यह स्पष्ट कर दिया कि उसने मुझे अपने “क्लेयर हूक्सटेबल” के रूप में देखा और उसने मुझे दूर जाने से मना कर दिया।2018 के मार्च तक,उसने मेरे माता-पिता से शादी के लिए मेरा हाथ मांगा,और अगस्त तक हमारी सगाई हो गई। 

Read More : https://parthghelani.in/best-lipstick-colors-for-a-first-date/

Follow me for regular updates:

Facebook : facebook.com/parthj ghelani ,
Instagram : instagram.com/parthjghelani

Categories
romantic love stories

Best high school romantic love stories !

इन स्कूल लव स्टोरी को रियल लाइफ से लिया गया है।स्कूल की लव स्टोरी को पढ़ने के बाद आपको अपना भी स्कूल लव स्टोरी याद आ सकता है।

जब मैं नई कक्षा में गया तो मेरी कक्षा में एक लड़की आ गई।दखने में मेरी लिए किसी परी से कम नहीं थी।देखते ही मेरा मन तेजी से कापने लगता था।

अब मुझे ज्यादा पढाई भी करना था क्योंकि वह लड़की पढ़ने में काफी तेज थी।मैं काफी मेहनत के साथ पढ़ना चाहता था।मुझे कुछ समझ में ही नहीं आ रहा था।

सारा दिन और सारी रात मै उसके बारे में सोचा करता था।लेकिन जब मै पढ़ाई के बारे में सोचता था तो मुझे बहुत ज्यादा गुस्सा आता था।

मैंने एक बार सोचा कि इसके बारे में मै अपने दोस्तों से कहु लेकिन मेरी हिम्मत नहीं होती थी।सब के चक्कर मै रह गया और मेरी कक्षा का पहला परीक्षा सामने आ गया।

best high school romantic love stories !

जब मैं परीक्षा के लिए अपनी कक्षा में गया तो मुझे खुद पर काफी गुस्सा आ रहा था।तभी मै क्या देखता हु कि वह लड़की मेरी ओर आ रही थी।

वह काफी खुश लग रही थी।यह देख कर मै कुछ देर के लिए अपनी शरीर को हिला भी नहीं पा रहा था।उसको मुस्कराता देखकर मैंने भी मुस्करा दिया।

वह मेरी पास आकर बोली, कैसे हो?तुम तो अपने कक्षा के टोपर हो।हर टीचर तुम्हारी तारीफ करते है।बहुत दिन से तुमसे मिलना चाहती थी लेकिन नहीं मिल पा रही थी।इसके बाद वह आगे अपनी सहेली के पास चली गई।मै बस देखता रह गया।

अब परीक्षा के लिए प्रश्न पत्र मिला। मुझे उस प्रश्न पत्र में कुछ भी समझ नहीं आ रहा था।बस मै उस लड़की के बारे में सोच रहा था।

इसी तरह से परीक्षा का आधा समय बीत गया।तभी मुझे एक आवाज सुनने को मिला वह आवाज मेरे पीछे से आ रहा था। जब मै पीछे देखा तो वही लड़की।अब मै जमीन पर नहीं बल्कि आसमान की सैर कर रहा था।बड़ी ही धीरे से मेरा नाम लेकर कहा,पेपर नहीं देना है क्या?

cute high school love stories

अभी तक तुमने कुछ भी नहीं लिखा है।इस पर मैं कुछ बोलने वाला ही था तो फिर से वह लड़की बोली,पेपर में कोई सवाल नहीं समझ नहीं आ रहा है तो मुझ गवार की मदद ले सकते हो।

इसके बाद मैंने अपने प्रश्न पत्र को हल करना शुरू कर दिया।मुझे कुछ सवाल समझ नहीं आ रहे थे तो मैंने उस लड़की से पूछ ही दिया।बड़ी ही समझदारी के साथ उस सवालो का हल बताया जिससे किसी दूसरे को शक भी ना हो।

इसके बाद मेरी कान में एक और आवाज आई।वह आवाज घंटी की थी।इस समय में हमें लंच भी करना था।हम दोनों ने पहली बार अपनी लंच को बाट कर खाया।

अब मै सोच रहा था कि मै सपना देख रहा हूँ या यह सब हकीकत है।यह घंटी परीक्षा के समय का ख़त्म होने पर बज रही थी।

इसलिए मैंने उस लड़की से कहा,तुम थोड़ा मुझे चिकोटी काटो।इस पर उस लड़की ने कहा,क्यों? मैंने कहा,मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि मै एक सपना देख रहा हुया यह सब हकीकत है।

रोज हम काफी बाते करते और काफी समय एक साथ बिताते।हमारी परीक्षा भी ख़त्म हो गया और इस बार सबसे ज्यादा परीक्षा में अंक मेरा ही था।सब कारण वह लड़की ही थी। 

the best high school love movies

दोस्तों इस तरह से मेरी स्कूल की प्रेम कहानी शुरू हुई थी।मैंने जब तक स्कूल में पढ़ा उसके साथ ही रहा और कभी कोई टीचर भी हमें बुरा नहीं कहते या यह नहीं कहते की तुम दोनों साथ ना रहा करो।

  • First love of school:

एक दिन काफी घर वालो के दबाव पर वह लड़का स्कूल की ओर चल दिय।मन में काफी गुस्सा उबाल रहा था।वह सोचता था कि फिर आज मेरे सारे दोस्त मेरा मजाक बनाने वाले है।साथ ही टीचर का भी काफी सुनने को मिलेगा।

यह सब सोचते हुए वह लड़का स्कूल की ओर चल रहा था।वह स्कूल तक पंहुचा। वह देरी से कुछ समय ही आज पहुंच गया था।

प्रार्थना के बाद वह अपनी कक्षा में गया।कोई भी दोस्त उसका मजाक नहीं उड़ा रहे थे।उसे कक्षा का सबसे टोपर लडके के साथ बैठने का मौका मिला।अब वह लड़का ख़ुशी से झूम रहा था।

जब क्लास का टॉपर लड़का क्लास के टॉपर लड़की के पीछे वाली सीट पर बैठा तो यह लड़का भी वही चला गया।दोनों एक दूसरे से काफी बात कर रहे थे और यह लड़का बस चुप-चाप अपने किताब को पढ़ रहा था।

इस पर वह लड़का बोला,मै रोज स्कूल आना चाहता हु लेकिन मेरा कोई अच्छा दोस्त नहीं है।जिससे मेरा स्कूल का टाइम पास हो सके।

best high school romance k dramas

वह लड़का खुशी से पागल होता जा रहा था।एक लड़की ने रोज स्कूल आने का कहा।उसे लकडी के पीछे वाली सीट पर बैठने का मौका मिला है और यह लड़की क्लास की टोपर है।

उस लड़की के बराबर हो जाए। इसलिए वह काफी मेहनत से पढ़ने लगा।अभी भी उसे काफी सवाल समझ नहीं आते थे इसमें वह लड़की इस लड़के को मदद करती थी।

एक दिन उस लड़के के मन में सवाल आया कि मुझे उस लड़की से प्रेम तो नहीं हो गया है।उसने लड़की से कहा, क्या तुम मेरी एक मदद कर सकती हो।

लड़के के बोल रहे थे कि इस लड़के ने ही पहले हाथ छोड़ा है।इस लड़की ने लड़के को बचा लिया।यह लड़का समझ गया कि इस लड़की को प्रेम हो गया है।

यह लड़का और मेहनत के साथ पढ़ना शुरू कर दिया।आखरी में वह लड़का पुरे क्लास का टोपर बन गया।लड़को ने कहा कि अगर तुम वास्तव में एक टोपर हो तो तुम्हे भी उस स्कूल का एंट्रेंस पेपर देना चाहिए।

लड़का भी ताव में आ गया और उसने दूसरे स्कूल का पेपर दिया और उस स्कूल में सेलेक्ट भी हो हो गया।घर वालों ने उसका नाम नए स्कूल में लिखवा दिया।

best high school romance k dramas on netflix

अब इस लड़के को इतना भी समय नहीं मिला कि यह लड़का उस लड़की को बता सके।वह लड़का अपने घरवालो और पढ़ाई के आगे झुक गया।